Blog

पृथ्वीराज चौहान

19 May, 2020 लाॅकडाउन की इस लम्बी अवधि में देश ऐसे अनेक विभुतियों को उनकी गरिमा प्रतिष्ठा के अनुरूप श्रद्धा समर्पण का अवसर प्राप्त नही ंकर सका। 50 55 दिनों के इस अंतराल मे ंहम उन विभुतियों को उचित ढंग से नमन नही ंकर सके जो अपनी प्रतिभा से देश के सम्मान और राष्ट्रीय गौरव को सींचते रहंे हैं। उनमें... more

कोरोना को ख़त्म करने की ओर

6 May, 2020 करोना का कहर जारी है देश विदेश मे संक्रमितों की संख्या निरन्तर बढ़ रही है उस अनुपात में लोग ठीक नहीं हो रहे हंै जिस अनुपात में संक्रमण बढ़ रहा है। पूरे विश्व में मरने वालों की तादात भय पैदा करती है जो देश जितना विकसित और समृद्ध है वहां अन्य देशों की तुलना में महामारी का प्रभाव ज्यादा दिखाई पड़ रहा है... more

शराब

5 May, 2020 लगभग 42 दिनों के बाद लाॅकडाउन के प्रतिबन्धों में कल जब कुछ शिथिलतायें दी गई तो सारा देश दुकानों पर आ गया। ये प्रतिबन्ध तो शिथिल इसलिये किये गये थे कि रमजान के दिनों में लोग अपनी जरूरत की चीजें खरीद सकेंगे। यह भारत सरकार की उदारता ही कही जायेगी कि जिसने नवरात्रों के नौ दिनों और बैसाखी के लोहड़ी जैसे... more

लॉकडाउन

4 May, 2020 42 दिनों की लम्बी छुट्टी के बाद आज शहर मुखरित हो रहा है। 22 मार्च के जनता कफ्र्यूू से लेकर कल तक के लाॅकडाउन में शाहजहांपुर की सभी गतिविधियां शून्य सी हो गई थी। यद्यपि कोरोना के कहर से जब विश्व त्राही त्राही कर रहा है तब शाहजहांपुर अपने को सभांलने में लगभग सफल रहा। एक विदेशी व्यक्ति के अतिरिक्त... more

श्री सीताराम जी धरती और धर्म का संयोग

2 May, 2020 भारतीय लोकगाथाओं में रामकथा का अपना एक अनुठा स्थान है। हिन्दी, संस्कृत तथा अन्य भारतीय भाषाओं में रामकथा का व्यापक उल्लेख मिलता है। अनेक भाषाओं में महाकाव्य, खण्ड काव्य और निबन्ध तथा लेख प्राप्त होते हंै। यहां तक कि भारतीय लोकसंस्कृति को भी जितना रामकथा प्रभावित करती है उतना अन्य कोई नहीं।... more

माँ गंगा

30 Apr, 2020 बैसाख शुक्ल पक्ष पर्वों और त्योहारों का पक्ष है। अक्षय तृतीया परशुराम जयंति शंकराचार्य जयंति फिर आज गंगा दशहरा। देश को पुरखों पूर्वजों और आस्था के पुरातन प्रतिकों को नमन करने का एक सुखद संयोग है। आज के दिन गंगा जी भगवान शंकर की सघन जटाओं से निकल कर गोमुख में पहली बार इस भूतल को स्पर्श किया था।... more

आचार्य शंकर

29 Apr, 2020 आज से 1232 वर्ष पूर्व वैशाख शुक्ल पंचमी 788 को आचार्य शंकर का जन्म केरल के कालड़ी गांव में एक गरीब लम्बोदरी ब्राहमण परिवार के घर में माता आर्यम्बा के गर्भ से हुआ। बालक अपने जन्म काल से ही सामान्य शिशुओं से अलग दिखाई पड़ता था। वह शैशव अवस्था की बालकोचित क्रियाकलाप में भी विलक्षण दिखता था। कहते हैं कि... more

योगी शासन का एक वर्ष

28 Apr, 2016 आज योगी शासन के एक वर्ष पूरे हुये इस एक वर्ष में प्रदेश को एक भरोसेमंद सरकार उसे मिली है ऐसा जनसामान्य महसूस कर रहा है । जिन परिस्थितियों में गत वर्ष योगी ने शपथ ली थी कमोवेश वह परिस्थितियां भले ही पूरी तरह नहीं बदली हों लेकिन हर आदमी का आत्मविश्वास इस अवधि में बढ़ा है। प्रदेश में कानून और विधि... more

भाजपा के 37 वर्ष

26 Dec, 2015 आज से 37 वर्ष पूर्व 6 अप्रैल 1980 को श्री अटल बिहारी बाजपेयी और श्री लालकृष्ण आडवाणी जी ने, जब जय प्रकाश समग्र क्रांति विफल हो चुकी थी और 1977 में उनके द्वारा स्थापित जनता पार्टी ताश के पत्तों की तरह बिखर चुकी थी, तब अपनी पुरानी राजनीतिक परम्परा को पुर्नजीवित करते हुये भारतीय जनता पार्टी की नीव रखी... more

कानून और उनका दुरूपयोग

19 Oct, 2015 पिछले पांच दिनों से मीडिया में केवल एक ही बहस चल रही है, उस बहस के ईर्द गिर्द ही देश के सभी चैनल और अखबार लोगों का मंतव्य प्रकाशित और प्रसारित कर रहें हैं। ये कोई पहली घटना नहीं है, और न ही किसी को फांसी पर लटकाने से इस सामाजिक अपराध का अन्त होगा। जो हुआ है, वह बहुत बुरा हुआ है। लेकिन इसके पहले भी... more

निर्णयः संत या सत्ता

19 Oct, 2015 गंगा के अविरल प्रवाह को लेकर अखाड़ा परिषद की चिन्ता स्वभाविक है, क्योंकि इन अखाड़ों का अस्तित्व जिन कुम्भों पर निर्भर करता है, वह हरिद्वार और प्रयाग के ऐसे कुम्भ हैं, जो पूरी तरह गंगा के अग्रिम प्रवाह पर आश्रित हैं। देश के ऐसे कितने धर्मिक, सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और साहित्यक संगठन है, जिनका... more

भाजपाः मूल विचार धारा की ओर

19 Oct, 2015 भारतीय जनता पार्टी में अभी उत्तर प्रदेश से मिलने वाली एक मात्र राज्य सभा की सीट श्री विनय कटियार जी को आवंटित की गई। भाजपा के इस फैसले को उसकी अपनी मूल विचारधारा की ओर लौटने का इसे एक संकेत माना जा सकता है। क्योंकि पिछड़ी जातियों में भाजपा के पास दो ही हिन्दू नेता हैं जो हिन्दुत्व के मुद्दे पर... more

मंत्र की शक्ति

19 Oct, 2015 प्रयाग के इस कुम्भ में कुछ प्रमुख संतों ने देश और विश्व में व्याप्त अनाचार, दुराचार, भ्रष्टाचार और हिंसा के प्रति चिंता व्यक्त करते हुये इन सब का आध्यात्मिक निदान खोजने का प्रयास किया कई बैठकें हुई विमर्श हुआ प्रयास ये किया गया कि इस चर्चा को तब तक मीडिया और प्रचार से दूर रखा जाये, जब तक कोई ठोस... more

स्वाधीनता का अर्थ

19 Oct, 2015 भारत एक स्वाधीन राष्ट्र है आज उसके स्वाधीनता के ६५ वर्ष पूरे हो गये है और ६६ वें वर्ष प्रारम्भ हो रहा है स्वाधीनता संघर्ष में अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को आज देश नमन कर रहा है जिन्होंनें अपने प्राण हथेली पर रख कर मातृभूमि की स्वाधीनता के लिये स्वयं का बलिदान किया उनके कुछ सपने थे हम... more

असम की हिंसा और बोडो जनजाति

19 Oct, 2015 आज भारत के दक्षिणी राज्यों में निवास कर रहे पूर्वोत्तर राज्यों के लोग भयभीत है, डरे है उन पर नियोजित ढंग से एक संप्रदाय विशेष के लोगों द्वारा हमले हो रहे है और उन्हें उन राज्यों से निकलने के लिये मजबूर किया जा रहा है। जब कि असम में चल रहे नरसंहार से न तो उनका कोई लेना देना है और न ही वह असम की... more